Home विविध गैजेट्स इन स्मार्टफोन्स से निकलता है खतरनाक रेडिएशन, जांच पड़ताल कर ही ले...

इन स्मार्टफोन्स से निकलता है खतरनाक रेडिएशन, जांच पड़ताल कर ही ले स्मार्टफोन

240
0

आज लगभग हर व्यक्ति स्मार्टफोन का उपयोग कर रहा है और स्मार्टफोन लोगो की ज़िंदगी का एक अहम हिस्सा भी बन चुका है। लोगो की रोजमर्रा की ज़िंदगी मे स्मार्टफोन उनकी जररूत हो गया है। लेकिन स्मार्टफोन के जितने अनेक फायदे हैं, तो उतने ही नुकसान भी हैं। ऐसा देखा गया है कि हम में से अधिकांश लोग फ़ोन लेते समय ज्यादा जांच पड़ताल नहीं करते और दिखने में सुंदर तथा कम दाम में ज्यादा फीचर वाला स्मार्टफोन खरीद लेते हैं, लेकिन हममें से बहुत कम लोग ही जानते हैं कि कुछ स्मार्टफोन से खतरनाक रेडिएशन निकलता जो हमें नपुंसक बनाने के साथ ही जानलेवा स्तर तक बीमार भी कर सकता है।

जर्मनी की फेडरल ऑफिस ऑफ रेडिएशन प्रोटेक्शन की रिसर्च में ये बात सामने आई है कि बहुत सी नामी कंपनियों के स्मार्टफोन से तय मानक से ज्यादा रेडिएशन निकलता है, जो इन स्मार्टफोन का उपयोग करने वालों को बीमार कर रहा है। रिपोर्ट के अनुसार चीनी कंपनी शाओमी और वनप्लस के स्मार्टफोन से सबसे ज्यादा रेडिएशन निकलता है जबकि सैमसंग के फोन से सबसे कम रेडिएशन निकलता है। इस रिसर्च में सामने आए आंकड़ों के आधार पर स्टेटिस्टा ने 16 सबसे ज्यादा और सबसे कम रेडिएशन फैलाने वालों की लिस्ट जारी की है, जिसके अनुसार शाओमी के एमआई ए1 और वनप्लस 5टी से तय मानक से भी ज्यादा रेडिएशन निकलता है।

जाने क्या है रेडिएशन:-


मोबाइल फोन से जो रेडिएशन निकलता है, उसे स्पेसिफिके एब्सॉर्पशन रेट (SAR) कहा जाता है और इसे प्रति किलोग्राम वॉट में मापा जाता है। भारत में एसएआर की सीमा 1.60 वॉट प्रति किलो तय की गई है, जबकि शाओमी एमआई ए1 का एसएआर 1.75 वॉट प्रति किलो और वनप्लस 5टी का 1.68 वॉट प्रति किलो है। स्टेटिस्टा की लिस्ट में सबसे ज्यादा रेडिएशन फैलाने वाले 16 स्मार्टफोन की लिस्ट में शाओमी, वनप्लस, एचटीसी, गूगल, एपल, जेडटीई और सोनी जैसे ब्रांड शामिल है। वहीं सबसे कम रेडिएशन सैमसंग के फोन से निकलता है। सबसे कम रेडिएशन फैलाने वाले 16 स्मार्टफोन की लिस्ट में सैमसंग के 8 फोन शामिल हैं।

आप भी अपने स्मार्टफोन का SAR स्तर जांच सकते है:-


आपके मोबाइल फोन से कितना रेडिएशन निकल रहा है, ये आप भी जांच सकते हैं, इसके लिए आपको अपने स्मार्टफोन से *#07# कोड डायल करना होगा। यह कोड डायल करते ही SAR स्तर की सारी जानकारी आपके स्मार्टफोन की स्क्रीन पर आ जायेगी। विशेषज्ञों का कहना है कि अगर आपके स्मार्टफोन का SAR का स्तर 1.6 वॉट प्रति किलो से ज्यादा है, तो आपको अपना स्मार्टफोन तुरंत बदल लेना चाहिए।