Home देश गृहमंत्री ने किया ‘वेस्‍ट टू वंडर’ पार्क का उद्धाटन, कलपुर्जों व अन्य...

गृहमंत्री ने किया ‘वेस्‍ट टू वंडर’ पार्क का उद्धाटन, कलपुर्जों व अन्य अपशिष्ट धातु से बनाई गई है प्रतिकृतियां

151
0

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को दक्षिण दिल्ली में नगर निगम के अंतर्गत “वेस्ट टू वंडर” पार्क का उद्घाटन किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि अपशिष्ट का निस्तारण ठीक से किया जाना चाहिए।जिसके लिए नगर निगमों को मुख्य भूमिका निभानी होगी। अपशिष्‍ट निस्तारण के लिए नगर निगमों को सुझाव देते हुए गृह मंत्री ने कहा कि इस पार्क ने दूसरों के लिए मिसाल कायम की है, क्योंकि पहली बार ‘ वेस्ट से वेल्‍थ’  बनाने के लिए स्क्रैप का उपयोग किया गया है। उन्होंने कहा कि लोगों के व्यवहार में बदलाव लाने और अपशिष्‍ट निस्तारण करने की उचित व्यवस्था की जानी चाहिए। गृहमंत्री ने कहा कि अपशिष्‍ट के पुनर्चक्रण की प्रणाली विकसित की जानी चाहिए ताकि उसका पुन: उपयोग किया जा सके। इस अवसर पर केंद्रीय गृह मंत्री ने पुलवामा के शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की, जहां सीआरपीएफ के जवानों ने सर्वोच्च बलिदान दिया।

राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में स्वच्छ भारत मिशन जन आंदोलन बन चुका है, जिससे लोगों में स्‍पष्‍ट बदलाव लाया है और इसके परिणामस्वरूप साफ-सफाई और स्वच्छता के लिए उनके व्यवहार में परिवर्तन हुए हैं। उन्होंने कहा, “हम उचित अपशिष्ट निस्‍तारण और पुनर्चक्रण प्रणाली के बिना स्मार्ट सिटी की कल्पना नहीं की जा सकती।

सेवन वंडर्स पार्क की ख़ासियत

दक्षिण दिल्ली में बनाया गया “सेवन वंडर्स पार्क” का मुख्य आकर्षण व इसकी खासियत विभिन्न आकार की लंबी प्रतिकृतियां हैं। जिनमें ताजमहल (20 फुट), गीज़ा का ग्रेट पिरामिड (18 फुट), एफिल टॉवर (60 फुट), पीसा की झुकी हुई मीनार (25 फुट), रियो डी जनेरियो का क्राइस्ट द रिडीमर स्‍टैच्‍यु (25 फुट), रोम की कोलोज़ियम (15 फुट), और न्यूयॉर्क की स्‍टैच्‍यु ऑफ लिबर्टी (30 फुट) है। बता दे कि इनमें सात प्रतिकृतियां ऑटोमोबाइल के कलपुर्जों और अन्य धातु अपशिष्ट जैसे पंखे, छड़, लोहे की चादर, नट-बोल्ट, साइकिल और बाइक के पुर्जे, पुरानी सीवर लाइन और 24 नगरपालिका भंडारों में धूल फांक रहे पुराने उपकरणों के अपशिष्‍ट से बनाई गई हैं। जिसमे सभी में 150 टन स्क्रैप एवं अपशिष्‍ट धातु का उपयोग किया गया है।