Home मध्य प्रदेश जबलपुर जबलपुर: राज्यपाल ने ली समाजसेवा के क्षेत्र में काम कर रही संस्थाओं...

जबलपुर: राज्यपाल ने ली समाजसेवा के क्षेत्र में काम कर रही संस्थाओं की बैठक, क्षय रोग से पीड़ित बच्चों की जांच के दिए निर्देश

125
0

प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल शनिवार को शहर पहुँची जहाँ उन्होंने पहले पुलवामा हमले में शहीद हुए जिले के अश्विनी कुमार को उनके निवास स्थान पहुचकर श्रद्धान्जलि अर्पित की। उसके बाद राज्यपाल आनन्दी बेन पटेल ने शहर स्थित सर्किट हाउस में समाजसेवी संस्थाओं की आयोजित बैठक में शामिल हुई जहाँ उन्होंने सामाजिक तथा शासकीय एवं अशासकीय संस्थाओं से क्षय रोग से पीड़ित बच्चों की देखभाल व उनकी जिम्मेदारी संभालने का आग्रह किया है। शनिवार को सर्किट हाउस में आयोजित बैठक में राज्यपाल ने समाज सेवा के क्षेत्र में काम करने वाली संस्थाओं की बैठक लेकर क्षय रोग से ग्रसित बच्चों को पोषित करने के कार्य में अभी तक हुई प्रगति की समीक्षा की।  

इस दौरान श्रीमती पटेल ने ऐसे बच्चों की देखभाल में लगी संस्थाओं के पदाधिकारियों से क्षय रोग से बचाव के प्रति जन-जागरूकता पैदा करने का आव्हान किया। श्रीमती पटेल ने क्षय रोग से पीड़ित बच्चों की देखभाल तथा पोषण आहार उपलब्ध कराने के साथ-साथ इन बच्चों के परिजनों से नियमित भेंट करने का अनुरोध भी सामाजिक संस्थाओं से किया है। बैठक में राज्यपाल को बताया गया कि सामाजिक संस्थाओं एवं विश्वविद्यालयों के सहयोग से क्षय रोग से पीड़ित बच्चों की देखभाल करने की उनके द्वारा की गई पहल के जिले में अच्छे परिणाम प्राप्त हुए हैं। इस मुहिम के तहत गोद लिये गये 68 बच्चे पोषण आहार, लगातार दिये गये उपचार और नियमित देखभाल के फलस्वरूप पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं।  

बैठक में आगे बताया गया कि क्षय रोग से पीड़ित 161 बच्चों की देखभाल और पोषित करने की जिम्मेदारी लेने कई सामाजिक संस्थायें आगे आ रही हैं । इनमें से अधिकांश बच्चों के पोषण और देखभाल का दायित्व विश्वविद्यालयों द्वारा लिया गया है।  इस दौरान राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने क्षय रोग से पीड़ित बच्चों का नियमित परीक्षण और रक्त की जांच के निर्देश भी बैठक में दिये। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्र में छह वर्ष तक की आयु के पीड़ित बच्चों की देखभाल की जिम्मेदारी महिला एवं बाल विकास के माध्यम से आंगनबाड़ी केन्द्रों को और छह वर्ष की अधिक आयु के बच्चों को स्वस्थ होने तक पोषण आहार उपलब्ध कराने का दायित्व शासकीय शालाओं, सरपंचों एवं गांव के सम्पन्न व्यक्तियों को देने का सुझाव भी दिया ।   

इस अवसर पर बैठक में रानी दुर्गावती विश्विद्यालय के कुलपति डॉ. कपिलदेव मिश्र, नानाजी देशमुख पशु चिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. पी.डी. जुयाल, कलेक्टर श्रीमती छवि भारद्वाज, अपर कलेक्टर डॉ. राहुल फटिंग, समन्वय सेवा केन्द्र, संगिनी सेवा समिति, रोटरी क्लब तथा अन्य सामाजिक संस्थाओं एवं जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि मौजूद थे ।