Home देश एयर स्ट्राइक पर NTRO का बड़ा खुलासा, हमले से पहले एक्टिव थे...

एयर स्ट्राइक पर NTRO का बड़ा खुलासा, हमले से पहले एक्टिव थे आतंकीयो के 300 मोबाइल

160
0

14 फरवरी को जम्मु-कश्मीर के पुलवामा में हुए CRPF जवानो के काफिले पर आत्मघाती हमले में भारतीय सेना के 44 जवान शहीद हुए। जिसके बाद से पूरे देश में गुस्सा, बदले की भावना थी। बीते महीने 26 फरवरी को भारतीय वायु सेना द्वारा 12 मिराज 2000 लडाकू विमान लेकर खुफिया जानकारी पर पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के बालाकोट में घुसकर जैश के ठिकानों पर एयर स्ट्राइक की गई। जिसमे सूत्रों द्वारा यह बताया गया कि, जैश के करीब 300 आंतकी इस स्ट्राइक में मारे गये। लेकिन बीते दिनों से भारत मे चल रही सत्ता और विपक्ष की गरमा गर्मी जिसमे विपक्ष के कई नेता इस एयर स्ट्राइक का सबूत मांग रहे है, सेना द्वारा की गई यह एयर स्ट्राइक पर उठ रहे सवालों के बीच आज एक बड़ा खुलासा हुआ है।

बता दे कि, समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, नेशनल टेक्निकल रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन (NTRO) के सर्विलांस में खुलासा हुआ है कि बालाकोट स्थित जैश-ए-मोहम्मद के कैंप में करीब 300 मोबाइल फोन एक्टिव थे, जहां भारतीय वायु सेना ने इस एयर स्ट्राइक को अंजाम दिया था। इसके अलावा इसी तरह के सक्रिय लक्ष्यों की जानकारी अन्य भारतीय खुफिया एजेंसियों द्वारा भी उपलब्ध कराई थी। खुफिया एजेंसियों ने सैटेलाइट के जरिए बालाकोट स्थित में जैश-ए-मोहम्मद के कैंप में काफी संख्या में आतंकियों के मौजूद होने के इनपुट दिए थे। जिसके बाद ही भारतीय वायु सेना ने 26 फरवरी को 12 मिराज 2000 लड़ाकू विमानों के जरिए आतंकी कैंपों पर एयर स्ट्राइक की थी।

इस रिपोर्ट की मानें तो इससे साफ होता है कि, भारतीय वायुसेना की एयर स्ट्राइक से पहले वहां कितने आतंकी रहे होंगे। इससे पहले भी एयर स्ट्राइक के बाद विदेश सचिव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा था कि, हमने यह स्ट्राइक ख़ुफ़िया जानकारी के तहत की है जहाँ आतंकी किसी बड़े हमले का प्लान बना रहे थे।

इससे पहले सोमवार को वायु सेना प्रमुख बीएस धनोआ ने कोयंबटूर में पत्रकारो से बातचीत के दौरान बताया कि बालाकोट में भारतीय वायुसेना के लड़ाकू जेट ने आतंकी कैंपों को निशाना बनाकर नष्ट किया था। इस एयर स्ट्राइक में मारे गए आतंकियों की सटीक संख्या सरकार भविष्य में जारी करेगी।