Home मध्य प्रदेश जबलपुर Jabalpur: जहाँ भी जाता हूं जबलपुर की पहचान लेकर जाता हूँ गर्व...

Jabalpur: जहाँ भी जाता हूं जबलपुर की पहचान लेकर जाता हूँ गर्व है, नेटवर्किंग ने की है काफी मदद: विपुल पांडे

307
0

हमेशा से कुछ नया करना चाहता था, सोच लिया था कि कुछ अलग करना है और जबलपुर में एक अलग नाम बनाना है। मेरा फ्रेंड्स सर्कल शुरू से ही अच्छा था, नेटवर्किंग भी थी, शुरू से ही लोगो के साथ जुड़ने का शोक था और इसी नेटवर्किंग से मुझे काफी मदद भी मिली। आज जब जहाँ कही भी जाता हूं तो जबलपुर की पहचान लेकर जाता हूं जो मेरे लिए गर्व की बात की है,,,,…!

यह कहना है जबलपुर शहर की जानी मानी इवेंट कंपनी नर्मदा इवेंट्स के फाउंडर व डायरेक्टर विपुल पाण्डे का जिन्होंने अपना नाम तो रोशन किया ही है साथ ही साथ ही जबलपुर को कई सारे इवेंट्स व अवार्ड शो में रिप्रजेंट किया है। संस्कारधानी का नाम बॉलीवुड तक पहुंचाने वाले विपुल पांडे को हाल ही में इवेन्ट्स के लिए मध्यप्रदेश स्तर पर दादा साहब फाल्के अवार्ड भी मिला है, इसी कड़ी में विपुल आज “Fourthpiller” से रूबरू हुए व खास बातचीत भी की जहाँ उन्होंने अपने करियर व सफर से जुड़े कुछ अहम किस्से भी शेयर किए आइये जानते है क्या कहना है सिटी आइकॉन का –

2013 में आया था आईडिया

विपुल ने बताया कि यह सफर 6 साल पहले 2013 में शुरू हुआ था। उस समय मैं कॉलेज स्टूडेंट था, मगर कुछ अलग करना था, नेटवर्किंग शुरू से रखी थी, तो एक आईडिया आया व लोगो की ज़रूरत समझी। और 2013 में फर्स्ट कॉलेज इवेंट उस समय किया जब जबलपुर में इवेंट मैनेजमेंट का ज्यादा चलन नहीं था। और इसी के साथ जुलाई 2013 में नर्मदा कंपनी चालू की और फिर शहर में डांस व क्लब जैसे इवेंट कराए। जबलपुर में ही काम करना उद्देश्य था, मेरा मानना है कि, आप जिस सिटी के हो वहाँ का बेस ज़रूरी है। इसीलिए शहर में ही मेहनत की। और शहर के बाहर मेरा मकसद मुंबई और जबलपुर को जोड़ना था जो की काफी हद तक किया भी है।

यूथ बना स्ट्रेंथ

विपुल ने बताया कि यूथ कनेक्टिविटी उनके लिए काफी अहम है, यूथ नेटवर्किंग ने उनकी इस सफलता में काफी मदद की। यूथ स्ट्रेंथ बना जिसे कि धीरे-धीरे एक पेड़ बनता गया लोग हमसे जुड़े हम लोगो से ऐसे काम को बढ़ाया और आज यहाँ तक पहुँचे है। हमने ये सोच कर काम शुरू किया था की लोगो को कनेक्ट करना है। उन्हें एंटरटेनमेंट के ऑप्शन देने है। जबलपुर के लोगो का प्यार मिला और टीम का सपोर्ट है जो आज यहाँ है। उन्होंने बताया कि यह तक आने में काफी मुश्किले भी हुई क्योंकि शुरुआत में इसका यहाँ इतना स्कोप नही था। लोगो को समझाने में बहुत दिक्कत होती थी। शुरुआती दौर में हमे क्लाइंट बेस्ड इवेंट्स मिलते भी थे तो बहुत कम थे पर करना था तो करना था।

मेरे लिए हर एक व्यक्ति सेलेब्रेटी है

विपुल कहते हैं कि आर्टिस्ट सब होते है हर किसी में एक आर्ट छुपा हुआ होता है बस हमे खुद जानने की देर होती है। हर सिंगर, हर ऐंकर, हर कलाकार व्यक्ति मेरे लिए सेलेब्रिटी है, मैं किसी के साथ भी होता हूँ तो मुझे पता है मेरी रेस्पॉन्सिबिल्टी क्या है। जब कोई सेलेब्रिटी शहर आते है तो वो शहरवासियों के लिए ना भूलने वाली याद बन जाती है। उन्हे अच्छी यादे मिले और क्या चाहिए

खुद की खुशी होती है असली सक्सेस

शहर में अपनी अलग पहचान बना चुुके विपुुुल कहते है कि खुद की खुशी ही असली सक्सेस होती है। आप कितना भी कमा ले पर अगर आप संतुष्ट नही है तो कोई मतलब नही है। इसीलिए सबसे यही कहना चाहूंगा कि मनी को मोटिवेशन की तरह ले न कि लालच की तरह। मनी आपका सिर्फ और सिर्फ मोटिवेशन हो, मेहनत करते रहे वहा जो आप चाहते है सफलता ज़रूर मिलेगी।