Home देश स्‍कॉर्पिन वर्ग में चौथी पनडुब्‍बी वेला का उद्घाटन, जाने आईएनएस वेला क्या...

स्‍कॉर्पिन वर्ग में चौथी पनडुब्‍बी वेला का उद्घाटन, जाने आईएनएस वेला क्या है खास

138
0

भारतीय नौसेना के लिए मझगांव डॉक शिपबिल्‍डर्स लिमिटेड (एमडीएल) द्वारा तैयार की जा रही स्‍कॉर्पिन वर्ग की चौथी पनडुब्‍बी वेला को सोमवार 6 मई को रक्षा उत्‍पाद सचिव डॉ अजय कुमार की पत्‍नी श्रीमती वीणा अजय कुमार ने लांच किया। रक्षा उत्‍पाद सचिव डॉ अजय कुमार इस मौके पर मुख्‍य अतिथि थे। इस खास मौके पर वाइस एडमिरल एके सक्‍सेना, सीडब्‍ल्‍यूपीएंडए भी मौजूद थे।
इस कार्यक्रम से जाहिर है कि मझगांव डॉक शिपबिल्‍डर्स लिमिटेड द्वारा इस पनडुब्‍बी का निर्माण मेक इन इंडिया कार्यक्रम के तहत किया जा रहा है जिसे रक्षा उत्‍पाद विभाग सक्रियता से लागू कर रहा है। वेला पनडुब्‍बी को नौका-सेतू से उसे अलग करने के लिए मुम्‍बई पोर्ट ट्रस्‍ट लाया गया। पनडुब्‍बी का बंदरगाह और समुद्र में कठिन परीक्षण और जांच की जायेगी, उसके बाद ही इस भारतीय नौसेना को सौंपा जायेगा। स्‍कॉर्पिन वर्ग की छह पनडुब्बियों के निर्माण और तकनीक हस्‍तांतरण के लिए फ्रांस की कंपनी नेवल ग्रुप को सहयोगी कंपनी के रूप में ठेका दिया गया है और इसका निर्माण मझगांव डॉक शिपबिल्‍डर्स लिमिटेड कर रही है।

एमडीएल के अध्‍यक्ष और प्रबंध निदेशक कमोडोर राकेश आनंद ने इस मौके पर बताया कि 20 अप्रैल को पी15 बी डेस्‍ट्रायर ‘इम्‍फाल’ और 6 मई को वेला का उद्घाटन इस साल अब तक की एमडीएल की प्रमुख उपलब्धि है। अभी एमडीएल में 8 युद्ध पोत और 5 पनडुब्बियों का निर्माण कार्य चल रहा है। एमडीएल भारत की प्रमुख जहाज निर्माण कंपनी है जो भारतीय नौसेना की जरूरतों को पूरा करती है। स्‍कॉर्पिन वर्ग की पनडुब्बियां किसी आधुनिक पनडुब्बी के सभी कार्य करने में सक्षम है, जिसमें एंटी-सर्फेस और एंटी-सबमरीन युद्ध शामिल है। स्‍कॉर्पिन परियोजना तथा तकनीकी हस्‍तांतरण के अनुभव और उन्‍नत इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर के साथ एमडीएल भविष्‍य में और पनडुब्‍बी निर्माण का कार्य करने को तैयार है।

आईएनएस वेला में खास –

आईएनएस वेला’ एक स्वदेशी पनडुब्बी है, जो ‘मेक इन इंडिया’ के तहत तैयार की गई है। अपने आधुनिक फीचर्स की वजह से यह दुश्मन को ढूंढकर उस पर सटीक निशाना लगा सकती है।

आईएनएस वेला स्टेल्थ और एयर इंडिपेंडेंट प्रॉपल्शन समेत कई तरह की तकनीकों से लैस है। जिससे इसका पता लगाना दुश्मनों के लिए आसान नहीं होगा।

आईएनएस वेला टॉरपीडो और ट्यूब लॉन्च्ड एंटी-शिप मिसाइल से हमला करने में सक्षम है।

वेला की सबसे बड़ी खासियत यह है कि यह किसी भी रडार की पकड़ में नहीं आएगी। इसके अलावा इससे जमीन पर भी आसानी से हमला किया जा सकता है। 

इस पनडुब्बी का इस्तेमाल हर तरह के वॉरफेयर, ऐंटी-सबमरीन वॉरफेयर और इंटेलिजेंस के काम में भी किया जा सकता है।