Home देश भारतीय वायुसेना के बेड़े में शामिल पहला अपाचे हेलीकॉप्टर, चीन-पाक सीमा पर...

भारतीय वायुसेना के बेड़े में शामिल पहला अपाचे हेलीकॉप्टर, चीन-पाक सीमा पर होगी तैनाती, जाने क्या है खासियत

189
0

भारतीय वायुसेना के लिए शनिवार 11 मई तक दिन खास रहा क्योंकि सेना को ताकत उस समय और बढ़ गई जब भारतीय वायुसेना के बेड़े में पहला अपाचे हेलीकॉप्टर शामिल हुआ। बता दे कि अमेरिकी एरोस्पेस कंपनी बोइंग ने भारतीय वायुसेना को शनिवार को 22 अपाचे गार्जियन लड़ाकू हेलीकॉप्टरों में से पहला हेलीकॉप्टर सौंप दिया है। अरबों डॉलर का यह हेलीकॉप्टर सौदा लगभग साढ़े तीन साल पहले हुआ था। इस मौके पर वायुसेना के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि एएच-64ई (आई) अपाचे हेलीकॉप्टर को शामिल करना बल के हेलीकॉप्टर बेडे़ के आधुनिकीकरण की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। उल्लेखनीय है कि चिनूक के बाद यह वायुसेना को मिला पहला अपाचे हेलीकॉप्टर है जिसकी तैनाती चीन-पाक सीमा पर होगी।

अधिकारियों ने बताया कि हेलीकॉप्टर को भारतीय वायुसेना की भविष्य की जरूरतों के हिसाब से तैयार किया गया है और यह पर्वतीय क्षेत्र में महत्वपूर्ण क्षमता प्रदान करेगा। भारतीय वायुसेना के प्रवक्ता ग्रुप कैप्टन अनुपम बनर्जी ने कहा, ‘पहला एएच-64ई (आई) अपाचे गार्जियन हेलीकॉप्टर भारतीय वायुसेना को 10 मई को अमेरिका के मेसा, एरिजोना स्थित बोइंग के उत्पादन प्रतिष्ठान में औपचारिक रूप से सौंपा गया।’

एएच-64ई अपाचे एक अग्रणी बहुउद्देश्यीय लड़ाकू हेलीकॉप्टर है और इसे अमेरिकी सेना इस्तेमाल करती है। भारतीय वायुसेना ने सितंबर 2015 में 22 अपाचे हेलीकॉप्टरों के लिए अमेरिका सरकार और बोइंग लिमिटेड के साथ अरबों डॉलर के सौदे पर दस्तखत किए थे। इन हेलीकॉप्टरों की पहली खेप इस साल जुलाई तक भारत भेजे जाने का कार्यक्रम है।

जाने अपाचे की खासियत

  1. करीब 16 फुट ऊंचे और 18 फुट चौड़े अपाचे हेलीकॉप्टर को उड़ाने के लिए दो पायलट होना ज़रूरी है।
  2. अपाचे हेलीकॉप्टर के बड़े विंग को चलाने के लिए दो इंजन होते हैं। 
  3. अपाचे हेलीकॉप्टर का डिजाइन ऐसा है कि इसे रडार पर पकडऩा मुश्किल होता है।
  4. बोइंग के अनुसार, बोइंग और अमरीकी फ़ौज के बीच स्पष्ट अनुबंध है कि कंपनी इसके रखरखाव के लिए हमेशा सेवाएं तो देगी पर ये मुफ़्त नहीं होंगी। 
  5. अपाचे हेलीकॉप्टर के नीचे लगी राइफल में एक बार में 30 एमएम की 1,200 गोलियां भरी जा सकती हैं।
  6. इस हेलीकॉप्टर की फ्लाइंग रेंज करीब 550 किलोमीटर है। 
  7. अपाचे हेलीकॉप्टर एक बार में पौने तीन घंटे तक उड़ सकता है।
  8. नाइट विजन सिस्टम की मदद से रात में भी दुश्मनों की टोह लेने, हवा से जमीन पर मार करने वाले रॉकेट दागने और मिसाइल आदि ढोने में सक्षम।
  9. अपाचे दुनिया के उन चुनिंदा हेलीकॉप्टर्स में शामिल है जो किसी भी मौसम या किसी भी स्थिति में दुश्मन पर हमला कर सकता है।