Home देश PM मोदी ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस, बोले- 5 साल देश ने जो...

PM मोदी ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस, बोले- 5 साल देश ने जो मुझे आशीर्वाद दिया उसके लिए मैं धन्यवाद देने आया हूं

105
0

चुनाव प्रचार के अंतिम दिन शुक्रवार शाम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि भाजपा सरकार फिर से बनने जा रही है। बता दे कि 5 साल में यह पहली बार हुआ है जब अमित शाह और नरेंद्र मोदी ने एक साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस की हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कहा कि जब मैं चुनाव के लिए निकला तो मन बनाकर निकला था और अपने को उसी धार पर रखा। मैंने देशवासियों को कहा था कि 5 साल मुझे देश ने जो आशीर्वाद दिया उसके लिए मैं धन्यवाद देने आया हूं। अनेक उतार चढ़ाव आए, लेकिन देश साथ रहा। मेरे लिए चुनाव जनता को धन्यवाद ज्ञापन था।  पीएम ने कहा सरकार बनाना देश की जनता ने तय कर लिया है, हमने भी देश को आगे ले जाने के लिए अपने संकल्प पत्र में कई बातें कही हैं। जितना जल्दी होगा, उतना जल्दी नई सरकार अपना कार्यभार ग्रहण करेगी। एक के बाद एक निर्णय करके हम आगे बढ़ेंगे

मोदी ने आगे कहा कि देश में एक बार फिर से पूर्ण बहुमत के साथ बीजेपी की सरकार बनेगी। पूर्ण बहुमत वाली सरकार पांच साल पूरे करके दोबारा जीतकर आए ये शायद देश में बहुत लंबे अर्से के बाद हो रहा है। ये अपने आप में एक बड़ी बात है। मोदी ने कहा कि 16 मई को पिछली बार रिजल्ट आया था और 17 मई को एक दुर्घटना हुई थी, 17 मई को सट्टाखोरों को मोदी की हाजिरी का बड़ा नुकसान हुआ था। सट्टा लगाने वाले तब सब डूब गए थे, यानी ईमानदारी की शुरुआत 17 मई को हो गई थी।

वहीं बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि भाजपा सरकार फिर से बनने जा रही है। बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि प्रेस कॉन्फ्रेंस में नरेंद्र मोदी का मौजूद रहना आनंद की बात है। अमित शाह ने कहा कि हमारी सरकार 5 साल में 133 योजनाएं लेकर आई हैं। इस चुनाव में जनता हमसे आगे रही है। ये चुनाव आजादी के बाद के चुनाव में बीजेपी की दृष्टि से सबसे ज्यादा मेहनत करने वाला, सबसे विस्तृत चुनाव अभियान रहा है। इस चुनाव में हमारा अनुभव के अनुसार जनता हमसे आगे आगे रही है। मोदी सरकार फिर से बनाने के लिए जनता का उत्साह बीजेपी से भी आगे रहा है। ये पहला ऐसा चुनाव है जहां विपक्ष की ओर से महंगाई और भ्रष्टाचार चुनाव के मुद्दे नहीं थे। बहुत समय बाद देश की जनता ने ऐसा चुनाव देखा है जिसमें ये मुद्दे गायब थे।