Home साहित्य लेख इस्तेमाल की वस्तु नही वो एक छोटी सी बच्ची है : रामप्रकाश

इस्तेमाल की वस्तु नही वो एक छोटी सी बच्ची है : रामप्रकाश

270
0

! एक छोटी सी बच्ची है वो !

वो तितली सी है, उसमे रंग है
वो सुबह सी है, उसमे रोशनी है
वो फूल सी है, उसमे खुशबू है
कैसे सोच लेते हैं लोग ऐसा
जबकी उम्र से वो इतनी कच्ची है
समझ नही आता, दरिंदों को कैसे नही दिखता
कि वो कोई इस्तेमाल की वस्तु नही
बल्कि एक छोटी सी एक बच्ची है….

वो फूल है किसी के आंगन का
वो नूर है किसी के चेहरे का

किसी की उम्मीद है, किसी की जिंदगी है
किसी की आस है, किसी की पूरी दुनिया है वो
किसी की धड़कनो सांस है, जालसाज नही है वो तुम्हारी तरह
वो तो बहुत ही सच्ची है वो कोई
इस्तेमाल की वस्तु नही बल्कि एक छोटी सी
बच्ची है
……..

तुम भी किसी के बेटे हो, तुम्हारी भी कोई बहन होगी
हो सकता है, हो तुम भी पति किसी के
शायद तुम्हारी भी कोई बेटी होगी फिर क्यो ना सुन पाये चीख तुम उसकी
फिर क्यो नही देख पाये मासुमियत उसकी
फिर क्यों अनसुना कर दी फरियाद उसकी

क्यों नही समझ पाये तुम कि वो तुम्हारी तरह मक्कार नही
बल्कि सीधी और अच्छी है, वो कोई इस्तेमाल कि वस्तु नही
बल्की एक छोटी सी बच्ची है

चाहे वो आसिफा हो, या हो ट्विंकल
आखिर बच्ची तो बच्ची होती है
, वो कोई इस्तेमाल कि वस्तु नही
बल्कि एक छोटी सी बच्ची है
……

! लेखक – रामप्रकाश राजपूत !

इनकी तरह आप भी हमे अपनी रचनाएं, कविता, लेख या आर्टिकल भेज सकते है। हमसे संपर्क कर सकते है या मेल भी कर सकते है 👇Fourthpiller04@gmail.com