Home साहित्य कविताएं सवाल ये पूछता हूँ : रामप्रकाश राजपूत

सवाल ये पूछता हूँ : रामप्रकाश राजपूत

78
0

सवाल ये पूछता हूँ

हर पल मैं ये सोचता हूँ
खुद से सवाल ये पूछता हूँ

दिल में छुपा है जो भी मेरे
कैसे मैं बयां करूं सोचता हूं

कुछ कहूं या ना कहूँ
हाल ए दिल कैसे बयां करूँ

कह दूं या चुप ही रहूँ
और कह भी दूं तो कैसे कहूं

हर पल मैं ये सोचता हूँ
खुद से सवाल ये पूछता हूँ

तुझको मैं कैसे मना लूं
तेरे दिल में मैं घर बना लूं

हाथों में अपने तेरा हाथ लेकर
और हँसी राह बना लूँ

हर पल मैं ये सोचता हूँ
खुद से सवाल ये पूछता हूँ

लेखक – रामप्रकाश राजपूत